Thursday, 23 October 2014


ब्राम्हानो को आज़ादी मिलतेहि नेहरू ने कायस्थ राजेन्ड्रा प्रसाद (प्रथम राष्ट्रपति )को काशी ले जाकर 200 ब्राम्हानो के पैर धुलकर उनका मैला पानी पिलाया !उसकी दुर्लभ तस्वीर बहुत सालो बाद मिली .नेहरू ने ऐसा क्यू किया ?क्यू की नेहरू ऐसा करके ब्राम्हानो को संदेश दे रहे थे की भारत मे ब्राम्हण राज स्थापित हो गया है !
....उसी तरह् आज भागवत मोदी को काशी से चुनवाकर ब्राम्हानो के पैर पकड़वाये दोनो घटनाओ का समान अर्थ है !कॉंग्रेस bjp दोनो दल राम राज लाना चाहते है वह क्या है यह बता रही है यह तस्वीरे ..राम राज अर्थात ब्राम्हण राज !!आज ब्राम्हानो ने फिर से प्रतिक्रांति लायी है ..जागो मूलनिवासी !निकलो बाहर मकानो से जंग लढ़ो बैइमानो से !
 — withPremkumar Mane and 2 others.